पर्यावरण संतुलन के साथ महिलाएं लगा रहीं Biogas Plant

एक गांव में महिलाओं ने पर्यावरण संतुलन को बनाने और बिजली ऊर्जा बचाने के लिए बड़ा कदम उठाया.इन महिलाओं ने गोबर सयंत्र लगाना और बायोगैस बनाने की प्रक्रिया सीखी.महिलाओं की इस पहल को लेकर दूसरे गांव की महिलाएं भी संयंत्र लगाने के लिए मूड बना रही.

New Update
पर्यावरण संतुलन के साथ महिलाएं लगा रहीं Biogas Plant

पिपरा में बायोगैस प्लांट का निरिक्षण करते अधिकारी (Image: Ravivar Vichar)

MP के Singrouli जिले के बैढ़न ब्लॉक के पिपरा गांव के self help group की महिलाओं ने कृषि विज्ञान केंद्र और एग्री चिकित्सालय केंद्र के एक्सपर्ट्स द्वारा गोबर सयंत्र लगाना सीखा.ये समूह की महिलाएं बायोगैस आजीविका समूह की सदस्य हैं.इस ट्रेनिंग के बाद महिलाएं उत्साहित हैं.

SHG परिवार के घरों में लगेंगे 122 Biogas Plants 

सिंगरौली जिले के बैढ़न ब्लॉक के पिपरा गांव में Biogas Plant लगाने के लिए SHG की महिलाओं ने ट्रेनिंग ली.इस ट्रेनिंग में हिस्सा लेने वाली पिपरा गांव की बायोगैस आजीविका ग्राम संगठन की  CRP रंजू शाह कहती हैं-"ब्लॉक मिशन ने द्वारा हमें ट्रेनिंग दिलवाई.हम अपने गांव को बायोगैस प्लांट लगाकर पर्यावरण संरक्षण के लिए काम करेंगे. हम पूरे गांव मिशन चलाएंगे."

गांव में स्वयं सहायता समूह की कई महिलाएं इस प्रोजेक्ट से जुड़ गईं.

SINGRAULI BIO 03 600

बायोगैस प्लांट बनाते हुए समूह सदस्य  (Image: Ravivar Vichar)

पिपरा गांव की ही CRP शीला देवी कहती हैं-"हम समूह की सदस्य महिलाओं को प्लांट के फायदे बता रहे.साथ ही पर्यावरण सुरक्षा में हमारे योगदान का महत्व भी बताया.पशु पालकों के यहां मवेशियों के गोबर को एकत्रण कर बायो गैस प्रक्रिया भी समझा रहे."      

जिले पिपरा पंचायत में 122 Biogas plants लगाने का लक्ष्य रखा है.          

biogas के साथ natural farming की भी मिली training 

जिले के देवरा में कृषि विज्ञान केंद्र और सावित्री बाई फुले ट्रेनिंग सेंटर में 32 महिलाओं ने ट्रेनिंग ली.  

जिले में Ajeevika Mission बैढ़न के Block Manager Deeraj Kumar Tiwari ने बताया-"यह जिले के बड़ी उपलब्धि है.स्वयं सहायता समूह की महिलाओं  को समूह की CRP सदस्य प्रोत्साहित कर रहीं.पिपरा में 40 घरों में महिलाओं को लाभ मिलाने लगा.53 घरों में यह सयंत्र लग चुके हैं.गांव में 600 लोग इस प्रोजेक्ट में लाभांवित होंगे."



सिंगरोली में बायोगैस सयंत्र को मिशन बनाया जा रहा.कृषि विज्ञान केंद्र के Director Dr.Jay Singh और Scientist Dr.Akhilesh Choubey ने समूह की सदस्य महिलाओं को संयंत्र के अलावा natural farming के साथ modern टेक्निक से कई जाने वाली खेती के बारे में बताया. BIOGAS PLANT 01 600

बायोगैस प्लान के साथ मिशन के अधिकारी और समूह सदस्य  (Image: Ravivar Vichar)            

आजीविका मिशन के District Project Manager Mangleshvar Singh कहते हैं-"पिपरा गांव में shg की महिलाएं लगातार बायोगैस प्रोजेक्ट पर काम कर रहीं.यहां 2 घन मीटर का plant लगाया जा रहा.इससे ज्यादा बचत होगी. दूसरे गांव में प्रोजेक्ट तैयार किया जाएगा."

singrouli के कलेक्टर DM IAS Chandra Shekhar Shukla और CEO जिले पंचायत Gajendra Singh Nagesh भी Biogas plants को जयादा से ज्यादा लगवाने पर जोर दे रहे.इससे समूह के माध्यम से बिजली और एलपीजी गैस का उपयोग कम होगा.      

SHG self help group Ajeevika Mission CRP Natural Farming Biogas Plant