जैविक खाद तैयार कर महिलाएं बन रहीं सशक्त

घरेलु महिलाओं के आत्मनिर्भर बनने में कई रोजगार के रास्ते खुल रहे.अब महिलाएं मजदूरी छोड़ बिज़नेस अपना रही.जैविक खाद बनाने का बिज़नेस कर कई महिलाएं लखपति बन गईं.लगातार महिलाएं ऐसे काम को अपना रहीं.

author-image
विवेक वर्द्धन श्रीवास्तव
एडिट
New Update
जैविक खाद तैयार कर महिलाएं बन रहीं सशक्त

तैयार खाद पैकेट के साथ समूह सदस्य (Image: Ravivar Vichar)

Betul जिले में घरेलु महिलाओं में से ही कुछ महिलाओं ने  self help group बना कर Organic vermicompost बनाने का काम शुरू किया.इन्हीं में से झगड़िया गांव के मां शारदा समूह से जुड़ी महिलाएं भी मिसाल बन गईं.             

दूसरे शहरों तक लगातार बढ़ रही vermicompost की मांग 

बैतूल के झगड़िया गांव में अब नई पहचान vermicompost से हो गई.यहां मां शारदा समूह की अध्यक्ष पुष्पलता सरले बताती हैं-"मैं तो घरेलु महिला थी.समूह से जुड़ने के बाद केंचुआ खाद बनाने काम शुरू किया.Ajeevika Mission से RF में 14 हज़ार की मदद की.लगातार लोन मिला.आज हमारे पास 100 बेड हैं जिसमें खाद तैयार हो रही.हमारी इनकम बढ़ गई."

BETUL VERMI 01 600

बैतूल में समूह की सदस्य वर्मीकम्पोस्ट तैयार करते हुए   (Image: Ravivar Vichar)

यहां तैयार vermicompost की मांग indore जैसे बड़े शहरों तक बनी. समूह की महिलाएं एकजुट होकर यहां खाद तैयार कर रही.

इसमें 13 सदस्यों ने मिलकर यह समूह तैयार किया. 

यह भी पढ़ें- वर्मीकम्पोस्ट पैकेजिंग से ला रहीं सस्टेनेबल बदलाव

महिलाओं ने शुरू किया जैविक के फायदे और प्रचार

बैतूल जिले में किसान परिवारों को  organic farming का फायदा बताया जा रहा.समूह की ही संतोषी वर्मा कहती है-"हमने CIF से एक लाख का लोन लिया.इससे से हमने खाद बनाने की क्षमता बढ़ाई.इसके बाद CCL से हमें 5 लाख रुपए का लोन मिल गया.शुरुआत में ही हमने लगभग तीन लाख रुपए की खाद बेची,जिसमें पौने दो लाख रुपए का फायदा हुआ."

केंचुआ खाद निर्माण और Advance Farming के लिए अब महिलाएं भी प्रचार कर रहीं.

BETUL VERMI 02 600

समूह की महिला अपने वर्मीकम्पोस्ट खाद बेड के साथ (Image: Ravivar Vichar)          

Betul Ajeevika Mission के District Project Manager (DPM) Satish Pawar कहते हैं-"यहां महिलाओं में जोश है.इनकी बदौलत कई किसान परिवार और किसान दीदियां जैविक खेती को अपनाने लगीं.हम लगातार मार्केटिंग में सहयोग कर रहे."

बैतूल के कलेक्टर DM IAS Narendra Kumar Suryvanshi भी लगातार SHG महिलाओं के काम और आत्मनिर्भर बनाने के लिए मॉनिटरिंग कर रहे.    

SHG self help group Ajeevika Mission CCL CIF Organic vermicompost Advance Farming