Colourful banana fibers से महिलाओं की ज़िंदगी में भरेंगे रंग

जिन केले के रेशे का कभी उपयोग नहीं हुआ.केले की फसल के साथ ही इनके तनों को काट कर फेंक दिया.कुछ सालों में यही Banana fibers कीमती हो गए.अब इन्हें colour कर महिलाएं ज़िंदगी में रंग भर रही. 

New Update
Colourful banana fibers से महिलाओं

फाइबर्स को कलर करती हुईं समूह सदस्य (Image: Ravivar Vichar) 

MP के Burhanpur जिले में self help group की महिलाओं के लिए कमाई के नए रास्ते खुल   गए. Ajeevika Mission ने fibres को कलर करने की ट्रेनिंग इन महिलाओं को देकर और एक्सपर्ट बना दिया.

Banana Fibers color के लिए महिलाओं को किया ट्रेन 

बुरहानपुर जिले में केला उत्पादक किसानों और किसान दीदियों के साथ SHG  की महिलाओं के लिए केले के रेशे और ख़ास हो गए.Banana fibers को और अधिक उपयोगी बनाने के लिए उनको अब कलर भी किया जा रहा.इस काम के लिए इंदौर से experts भी बुलाए गए.

banana cut fibers 600

अपने सर्टिफिकेट के साथ समूह सदस्य और एक्सपर्ट (Image: Ravivar Vichar) 

रामा SHG की रत्ना मेढ़े बताती है-"मैंने ट्रेनिंग ली.प्राकृतिक रंग और हल्दी जैसे पॉवडर से कलर करना सिखाया.अब हमारे बनाए फाइबर्स प्रोडक्ट्स और ज्यादा कीमत में बिकेंगे."

स्वयं सहायता समूह की महिलाएं इन्हीं फाइबर्स से डोर मेड,आसान, झाड़ू जैसे कई आइटम्स बना रही.

शाहपुर ब्लॉक की SHG सदस्य उषा उदड़कर कहती हैं-"हमने तो सोचा भी नहीं था जिस केले के तने को हम फेंक देते थे उसका इतना उपयोग करेंगे.हम अब कलर करने के बाद प्रोडक्ट्स बनाएंगे."

Fibers से बनाए कपड़े की हो रही बेंगलुरू में टेस्टिंग 

स्वयं सहायता समूह की सदस्यों की आने वाले दिनों में नई पहचान बन सकती है.महिलाओं द्वारा अब  लूम पर कपड़ा भी तैयार किया.

समूह की महिलाओं को ट्रेनिंग देने वाले expert Indore के Vaishanv Vidhyapeeth University के प्रोफेसर Dr.Pawan Gupta ने बताया-"इस कैंप में सभी उम्र की महिलाओं ने उत्साह से भाग लिया.21 महिलाएं ट्रेन हो गईं.सभी को 21 दिन  natural colors से fibers को तैयार करना सिखाया.इस प्रक्रिया से फाइबर्स और मजबूत हो जाएंगे. बढ़िया प्रोडक्ट्स बना सकेंगे."

       banana fibers 600

कलर किए गए फ़ाइबर्स (Image: Ravivar Vichar)  

Ajeevika  Mission की District Project Manager (DPM) Santmati Khalko ने बताया-"हमारे पास पहले से लूम थे.समूह की महिलाओं कॉम और अधिक रोजगार से जोड़ने के लिए banana fibers और कुछ प्रतिशत कॉटन मिक्स कर कपड़ा तैयार किया.इसे टेस्टिंग के लिए बेंगलुरु भेजा.रिपोर्ट आने पर नया प्रोजेक्ट बनाएंगे."

Burhanpur की कलेक्टर DM IAS Bhavya Mittal कहती हैं-"यह जिले की बड़ी उपलब्धि है.SHG महिलाओं के लिए कमाई के साथ आत्मनिर्भर के नए रास्ते बनेंगे." 

जिले में  अभी समूह की महिलाएं   banana fibers Sanitary Pad Unit भी चला रहीं .

यह भी पढ़े- केले के रेशों से हुई रौशनी

SHG self help group Ajeevika Mission Banana Fibers