Polyhouse Technique की खेती से बन गई लखपति दीदी

खेती के आधुनिक तरीके अपना आकर कई महिलाएं लखपति दीदी बन गई.इस खेती की टेक्निक को सीखा और सफलता मिली.अब यह महिलाएं दूसरी किसान दीदियों को Poly House की ट्रेनिंग दे रहीं

New Update
Polyhouse Technique की खेती

पॉली हाउस में सब्जियों की देखभाल करती संतोष सरियाम (Image: Ravivar Vichar)

MP के Betul जिले में कई किसान दीदियां चर्चा में हैं.Poly House पद्धति से खेती करने वाली कई दीदियों ने self help group के जरिए नई खेती को अपना लिया.अब यह vegetable production में नया record बना रहीं.

Modern Farming Poly House से हो रही बंपर पैदावार 

बैतूल जिले में modern farming अपना कर SHG की सदस्य फसलों की बंपर पैदावार कर रहीं.जिले के घोड़ाडोंगरी ब्लॉक में कई स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने  Poly house farming से खेती कर रहीं.

छतरपुर के दुमकाडाना गांव की village organization की अध्यक्ष संतोष सरियाम बताती है-"हमने पॉली हाउस टेक्निक से खेती करने की ट्रेनिंग ली.हमने सीज़नल करेले और टमाटर लगाए.पहली बार में ही हमारे हाउस में लगभग 90 किलो टमाटर निकले.लगातार बिक्री हो रही."

इस गांव में ही संजीविनी जाग्रति समूह,अंशिका समूह और आराधना समूह की लगभग 10 सदस्य किसान दीदियां पॉली हॉउस से खेती कर रहीं.

betul poly 01 600

सब्जी उत्पादक संतोष अपने हाउस के उत्पाद टमाटर के साथ (Image: Ravivar Vichar)

छतरपुर की ही आराधना समूह की राजपली वट्टी बताती है-"हमने पहली बार इस टेक्निक का प्रयोग किया.हमें अच्छी मात्रा में करेले और टमाटर मिल रहे.हम लोकल मार्केट में ही बेच रहे.हम दूसरी किस्म की सब्जियां भी लगा रहे."

बैतूल जिले के टमाटर और करेले की बढ़ी डिमांड 

बैतूल जिले में poly house को लेकर किसान दीदियों और self help group का रुझान बढ़ा.

krishi sakhi और CRP Parwati Vishwkrma  कहती हैं-"जिले में कई समूह पॉली हाउस से खेती करने के लिए आगे आए.सीज़नल सब्जियां लगा कर समूह की सदस्य अच्छी कमाई कर रहीं."

जिले में ही लगातार खपत हो जाने के बावजूद जिले के बाहर से भी सब्जियों की डिमांड लगातार बढ़ रही.

betul poly 03 600

जिले में ऐसे कई जगह पॉली हाउस को दिया बढ़ावा (Image: Ravivar Vichar)  

Ajeevika Mission के District Project Manager (DPM) Satish Pawar कहते हैं-"जिले में सीज़नल vegetable का लगातार प्रोडक्शन बढ़ रहा.समूह की सदस्यों को modern के साथ  organic farming सिखाई जा रही.शुरुआत में ही लगभग 100  से ज्यादा kisan didi इस टेक्निक से खेती कर सब्जियां ऊगा रहीं.हम लगातार प्रोत्साहन दे रहे."

जिले में कई तरह के रोजगार से समूह की सदस्यों को जोड़ा जा रहा.

बैतूल के कलेक्टर DM IAS Narendra Kumar Suryvanshi खुद लगातार SHG समूह की सदस्यों से मिलकर उन्हें मदद कर रहे.DM Narendra Kumar Suryvanshi कहते हैं-"Poly House से सब्जियों की क्वालिटी बेहतर होने से समूह की महिलाओं को आर्थिक लाभ ज्यादा होगा.किसान दीदियों को और अधिक उन्नत ट्रेनिंग दिलवाई जाएगी." 

self help group Krishi Sakhi Village Organization Modern Farming Poly House