वोट नाख्वा जाओ म्हारी बेहनियों,वोट नाख्वा न हक़ छे...

वोट नाख्वा जाओ म्हारी बेहनियों,वोट नाख्वा न हक़ छे,वोट नाख्वा जाओ म्हारा काका. MP के आदिवासी अंचल में लगे भगोरिया हाट बाज़ार में महिलाओं ने अपने ही अंदाज़ और बोली में मतदान जागरूकता कार्यक्रम शुरू किया.SHG की महिलाओं ने सभी से वोट डालने की अपील की.

New Update
jhabua

झाबुआ में समूह सदस्यों और अधिकारियों के साथ DM Neha Meena (Image: Ravivar Vichar)

MP के Tribal District Jhabua में इस बार self help group की महिलाओं का खास अंदाज़ देखने को मिला. इन महिलाओं ने tribal भीली बोली में  folk songs गए कर voting की अपील की. बाज़ार में आए लोगों ने इस पहल को सराहा.

महिलाओं ने Holi Festival के बीच कई गांव में यह प्रचार किया.             

Trditional Costume और Folk Songs से किया जागरूक 

Jhabua जिले के Pitol,Kalyanpura,bhagore,Mohanpura जैसे गांव में भी Bhagoria Hat Bazar में SVEEP कार्यक्रम के तहत self help group की महिलाऐं आगे आईं. पिटोल गांव में हीरा बालू,मंजू बालू भूरिया, मेंथा आदि महिलाओं ने बताया-"हमारा मरिया समूह है.हम भगोरिया में शामिल लोगों को मतदान के लिए जागरूक कर रहे.हम अपनी Bhili Tribal बोली में ही बोल रहे,जिससे सभी को यह बात समझ आए." 

jhabua sweep 600

झाबुआ जिले में मतदान जागरूकता कार्यक्रम के दौरान समूह सदस्य (Image: Ravivar Vichar)



ऐसे ही बावड़ी गांव में भी गीता बाई,रमीला, कुसुम सहित कई सदस्यों ने हिस्सा लिया. और जागरूक किया . 

कल्याणपुरा गांव में बाकायदा SHG की महिलाओं ने उत्साह से मतदान करने के लिए गीत गए कर और अपनी ही आदिवासी बोली में बोल कर बात की.             

समूह की महिलाओं ने बताया-"हमने अपनी हथेलियों पर मतदान की अपील मेहंदी से रचवाई. तख्तियां बैनर लेकर भी लोगों को समझाया."   

भगोरिया से हुई SWEEP की शुरुआत,कलेक्टर भी शामिल   

झाबुआ के मोहनपुरा में आयोजित भगोरिया हाट सबसे ज्यादा चर्चा में रहा. Jhabua Block Manager (BM) Tripti Bairagi कहती हैं-"पूरे जिले में Bhagoria का उत्साह रहा. ख़ास बात मतदान जागरूकता कार्यक्रम में स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया. आदिवासी भीली बोली में गीता तैयार किए. ये सभी अलग अलग रोजगार से जुड़ कर आत्मनिर्भर हो गईं."

jhabaua sweep voting

अनूठे अंदाज़ में  वोटिंग के लिए हथेलियों  पर लिखवाया (Image: Ravivar Vichar)

मोहनपुरा में कलेक्टर DM IAS Neha Meena खुद पहुंची. मीणा ने SHG की महिलाओं की पहल की सराहना की.चुनाव आयोग के SVEEP (Systematic Voters' Education End Electoral) प्लान को ज्यादा प्रभावी बनाने को लेकर समूह की महिलाओं ने अपनी आदिवासी भीली बोली में लोकगीत तैयार किए.

 जिला पंचायत के CEO ZP Jitendra Singh Chauhan, एडिशनल CEO ZP और इंचार्ज DPM Dinesh Verma भी मौजूद थे.   

SHG self help group Tribal District Jhabua folk songs Bhagoria Hat Bazar SVEEP Systematic Voters' Education End Electoral