Poshan Pakhwada 2024 की शुरुआत

महिलाओं और बच्चों की स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों को खत्म और कमियों को पूरा करने के लिए सरकार ने Poshan Pakhwada 2024 आरंभ कर दिया है. आज, यानि, 9 मार्च 2024 से लेकर 23 मार्च 2024 तक यह समारोह चलेगा.

author-image
रिसिका जोशी
एडिट
New Update
poshan pakhwada 2024

Image credits- Ravivar Vichar

महिला सशक्तिकरण (women empowerment) के साथ देश को आगे बढ़ाने की सरकार की सारी पहले कामियाब होती नज़र आ रही है. देश में women led development को नए आयाम दे रही है सरकार. चाहे लाडली बहना योजना हो, या ड्रोन दीदी, हम समझ सकते है कि देश में ग्रामीण महिलाओं को आगे बढ़ाकर उनके ऊपर लाना सरकार का एकमात्र लक्ष्य बन चुका है.

स्वयं सहायता समूह यानि self help groups से लेकर ग्रामीण महिलाओं को loan या ब्याज की सुविधा भी दे रही है सरकार. इसी के साथ उनके स्वास्थ्य से जुड़े कायदे भी बदलना ज़रूरी है और इस बात को सरकार की यह नई पहल और समारोह  साबित कर देगा. 

Poshan Pakhwada 2024 की हुई शुरुआत

महिलाओं और बच्चों की स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों और कमियों को पूरा करने के लिए सरकार ने Poshan Pakhwada 2024 आरंभ कर दिया है. आज, यानि, 9 मार्च 2024 से लेकर 23 मार्च 2024 तक यह समारोह चलेगा.

Poshan Pakhwada क्या है?

आपके मन में यह सवाल ज़रूर आया होगा कि आखिर यह Poshan Pakhwada क्या है? Poshan Pakhwada, 0-6 साल के बच्चों और महिलाओं के पोषण और पोषण से जुड़ी समस्याओं को ख़त्म करने पर ध्यान देने वाला सरकार की ओर से शुरू किया गया एक सराहनीय कदम है. इसका मकसद, बच्चों में कुपोषण और एनीमिया जैसी बीमारियों के ख़त्म करना और साथ ही जन्म के वक़्त इन बच्चों के वज़न को check में रखना है.

यह भी पढ़े- SHGs के लिए NRLM का LokOS App

भारत में कुपोषण काफी स्तर तक ख़त्म हो चुका है लेकिन यह नहीं कहा जा सकता की देश में इन बच्चों की संख्या पूरी तरह से ख़त्म हो चुकी है. देश के भविष्य और इस भविष्य को दुनिया में लाने वाला उनकी मां, दोनों का ख्याल रखना ही Poshan Pakhwada का लक्ष्य है.

इसके लिए, टेक्नोलॉजी, अभिसरण, और सामुदायिक भागीदारी का इस्तेमाल किया जाता है. Poshan Pakhwada का उद्देश्य, जन आंदोलन और जन भागीदारी के ज़रिए पोषण के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाना और खाने की स्वस्थ आदतों को बढ़ावा देना है. 

Poshan Pakhwada 2024 की theme क्या है?

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय Poshan Pakhwada 2024 का आयोजन कर चुका है जो आज से शुरू होकर 23 मार्च तक चलेगा. इस पूरी अवधि के दौरान, "पोषण भी पढाई भी" जैसे विषयों पर ध्यान केंद्रित करते हुए, पोषण संबंधी जागरूकता और गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य पर जोर देना, बड़े पैमाने पर जागरूकता और सामुदायिक गतिविधियों की एक कड़ी बनाना और साथ ही ग्रामीण महिलाओं को अच्छे स्वास्थ्य से जुड़ी बातें समझाना, लक्ष्य है.

 

मंत्रालय ने संकेत दिया है कि इन मुख्य विषयों के अलावा इस Poshan Pakhwada में राज्यों, भागीदार मंत्रालयों और विभागों को बहुत सी महत्वपूर्ण बातों को संबोधित करते हुए supplementary sensitization initiatives की व्यवस्था करना अनिवार्य है.

Poshan Pakhwada 2024 के क्या फायदे है?

Poshan Pakhwada 2024 देश में महिला और बच्चों के स्वास्थ्य को अच्छा रखने के लिए बहुत काम कर रहा है. इसीलिए हर महिला और उनके परिवार को इस समारोह से जुड़ने की सलाह दे रही है सरकार. इन अतिरिक्त क्षेत्रों में मिशन LiFE के माध्यम से पोषण बढ़ाना, बाजरा को बढ़ावा देकर खाद्य प्रणालियों को सही करना और आंगनवाड़ी केंद्रों पर Poshan Vatika स्थापित करना, जैसे प्रयास शामिल हैं.

इसके अलावा, डायरिया प्रबंधन, "Tests, Treat, Talk Anemia" campaign और "Swasth Balak Spardha" से संबंधित गतिविधियों को प्रोत्साहित किया जाता है, जिसका उद्देश्य आंगनवाड़ी केंद्रों से जुड़े बच्चों के नियमित विकास माप को बढ़ावा देना है.

अंग्रेजी में एक कहावत है "Healthy mind resides in a healthy body" यानि 'स्वस्थ शरीर के बिना स्वस्थ दिमाग नहीं हो सकता'. जब तक हमारा शरीर पोषण से भरपूर आदतें नहीं डाल लेता, दिमागी स्तर पर आगे बढ़ना नामुमकिन है. सरकार के साथ अब देश का हर व्यक्ति इस बात को समझ चुका है और Poshan Pakhwada 2024 का यह 6वां समारोह यह साबित भी कर देगा.

women empowerment women led development Poshan Pakhwada 2024 Poshan Pakhwada