ज़मीन का अवेध कब्ज़ा हटा कर SHG ने लगाए आयुर्वेदिक पौधे

छत्तीसगढ़ में शासन ने बड़ा काम किया. रायपुर के इलाके में अवैध रूप से कब्ज़ा की गई ज़मीन को छुड़ा कर SHG को सौंप दी. इस ज़मीन पर आयुर्वेदिक पौधे लगाए. कई महिलाओं को इससे लाभ मिल रहा.

New Update
MUNGA

राजधानी रायपुर (Raipur) के इलाके में कब्जे की ज़मीन को उपजाऊ बना दिया. स्वयं सहायता समूह (Self Help Group) सहित अन्य कुछ पंचायतों को यह ज़मीन सौंप कर रोजगार के अवसर बना दिए. जिला पंचायत ने यह कार्रवाई की. 

43 एकड़ ज़मीन पर पौधे बने कमाई के साधन 

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में रायपुर (Raipur) के आसपास लगभग 43 एकड़ ज़मीन को अवैध जिला पंचायत ने बड़ी कार्रवाई कर मुक्त करवा दी. शासकीय जमीन का सर्वे कराया गया. इस ज़मीन को उपयोग करने के लिए स्वयं सहायता समूह (Self Help Group) की महिला सदस्यों को दी गई. जिला पंचायत के अधिकारियों के अनुसार रायपुर (Raipur) जिले के छछान पैरी के 18 एकड़ में औषधीय पौधे (Mdicinal Plant) की जगह एलोवेरा (Aloe Vera), मुनगा (Drumstick), लेमनग्रास (Lemon Grass) आदि के बीज (Seeds) लगाए जाएंगे.दो-दो एकड़ में अलग-अलग प्रजाति के बीज लगाए गए हैं. समूह की सदस्य इस प्रोडक्ट को तैयार कर बेच रहीं. जिससे महिलाओं को आर्थिक फायदा हो रहा. 

12 गांव के कई ब्लॉक में लगाए पौधे 

जिला पंचायत ने पंचायतों और स्वयं सहायता समूह  (Self Help Group) के जरिए अभनपुर ब्लाक स्थित टेकारी में 10 एकड़ जमीन खाली कराकर लेमनग्रास (Lemon Grass) के पौधे लगाए गए. ग्राम पंचायत आमदी में 5 एकड़ में मुनगा (Drumstick) और अश्वगंधा (Ashwagndha) के पौधे और तिल्दा ब्लॉक के ओटगन में 15 एकड़ में पौधरोपण के साथ इंटर क्रॉपिंग कर औषधीय पौधे लगाए गए. इसी तरह आरंग ब्लॉक स्थित सोनपैरी में 5 एकड़, पचेड़ा में 5 एकड़, छटेरा में 5 एकड़, धरसींवा ब्लाक के तरेंगा में भी 5 एकड़ में उपयोगी पौधे लगाए गए. अधिकारियों का मानना है कि ज़मीन का फायदा SHG से जुड़ी महिलाओं को मिलेगा. 

इसके अलावा छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh)  में SRLM की मदद से सेल्फ हेल्प ग्रुप (SHG)की महिलाएं अपने तैयार प्रोडक्ट्स सी-मार्ट  (C-MART) तक पहुंचा रही. फिनाइल, सैनेटाइजर, साबुन,  हेंडीक्राफ्ट आइटम्स सहित दूसरे सामान के बिकने से भी आमदनी बढ़ रही.

पौधों के फायदे बता रही SHG की महिलाएं 

खाली ज़मीन मिलने के बाद समूह की महिलाओं ने मेडिसनल प्लांट्स को लगाया बल्कि उनके फायदे भी स्वास्थ्य को लेकर गिना रहीं. महिलाओं का कहना है- "औषधीय पौधे का उपयोग करने के फायदे हम सभी को बता रहे. मुनगा से कई बिमारियों में लाभ मिलता है. इसके अलावा एलोवेरा से ब्लड प्रेशर सहित कॉन्स्टिपेशन और कई जगह फायदा होता है. ऐसे ही तुलसी, पारिजात और गिलोय के पौधे लगाए, जिनका फायदा हम बता रहे."     

  

SRLM self help group Chhattisgarh Raipur C-Mart Mdicinal Plant Ashwagndha Lemon Grass