छत्तीसगढ़ में बढ़ा महिलाओं का दबदबा, दिखेगा चुनाव में असर

छत्तीसगढ़ राज्य में इस चुनावी समर में महिला मतदाताओं का दबदबा नज़र आएगा.चुनाव आयोग से जारी वोटर्स लिस्ट में महिलाओं की संख्या पुरुष मतदाताओं की संख्या से ज्यादा है.2024 में इस प्रभाव को देखते हुए महिला वोटर्स की पूछ-परख बढ़ने लगी.

New Update
NAZARIA CG JASHPUR BANNER

जशपुर जिले में मतदान जागरूकता के लिए कलेक्टर,सीईओ जिला पंचायत सहित अधिकारी और अन्य लोगों ने सायकल चलाते हुए (Image: Ravivar Vichar)

Chhattisgarh में आगामी लोकसभा चुनाव में Female Voters का प्रभाव दिखने लगा. state election commission ने जैसे ही states voters की डिटेल्स जारी की वैसे ही राज्य में जनप्रतिनिधियों सहित अधिकारियों को समझ आ गया. इस बार लोकसभा 2024 में होने वाले मतदान के लिए महिला मतदाता की संख्या पुरुष मतदाता से ज्यादा है.

3 प्रतिशत Female Voters Male Voters से CG में ज्यादा  

Chhattisgarh में इस बार लगभग 2.81 % female voters की संख्या बढ़ गई. state elelction commissioner ने जारी press note में बताया-"इस बार CG में कुल 2 करोड़ पांच लाख 13 हजार 250 Voters हैं. इसमें Male Voters की संख्या 1 करोड़ एक लाख 80 हज़ार 405 हैं.इसके साथ ही Female Voters की संख्या इस बार 1 करोड़ तीन लाख 32 हज़ार 115 है.यह male voters की तुलना में 5 लाख 77 हज़ार 184 अधिक हैं."

SYMBOL VOTE NAZARIA

Image Credits: Google



राज्य में 1000 पुरुषों के मुकाबले 1015 महिला मतदाता यानि 2.81 % महिला मतदाता अधिक हैं.

इस बार महिला मतदाता की संख्या बढ़ने से साफ है उनकी और परिवार की जागरूकता है जिन्होंने अपने परिवार की महिलाओं के नाम voter list में जुड़वाए.

राज्य चुनाव आयोग ने भी निडर होकर मतदान करने की अपील की.  

समूह की महिलाओं ने संभाली जागरूकता की कमान 

छत्तीसगढ़ में  State Rural Livelihood Mission Bihan और  NULM से जुड़े self help group की महिलाओं ने भी मतदान जागरूकता की कमान संभाल ली. लोकसभा की पूरी 11 seats के लिए  SHG की महिलाओं ने गांव-गांव जाकर SVEEP के तहत प्रचार शुरू किया.

इस बार SRLM की MD IAS Namrta Jain ने भी समूह की सदस्य महिलाओं को आव्हान किया कि मतदान के लिए अपने इलाके में लोगों को जागरूक करें.मतदान शत-प्रतिशत हो.

छत्तीसगढ़ के हर जिले में District Mission Manager और अन्य स्टाफ भी स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं को मतदान के लिए लगातार आयोजन करने के लिए प्रमोट कर रहे. 

Jashpur District Mission Manager (DMM) Vijay Singh Sharan कहते हैं-"हमारे यहां समूह की महिलाओं ने यह मिशन भी संभाल लिया.महिलाओं में इसका असर भी पड़ रहा. अलग-अलग गतिविधियों के जरिए मतदाताओं को जागरूक कर रहे."

NAZRIA CG PIC JASHPUR

SVEEP के तहत समूह सदस्य प्रचार करते हुए  (Image: Ravivar Vichar)  

हर जिले में यह आयोजन दिखने लगे. Janjgir-Champa DPM Upendra Dubey बताते हैं-"बिहान से जुड़े समूह पंचायत स्तर तक प्रचार में अलग-अलग तरह से जुट गए.साइकल से लगाकर कई प्रतियोगिया आयोजित करवा रहे. जिला प्रशासन और जिला पंचायत के अधिकारी भी हिस्सा ले रहे."              

CG में Female Voters बनी Mater Key 

यह पहला मौका है जब Self Help Group की महिलाएं  SVEEP Systematic Voter's Eduction and Eletoral Participation में ज्यादा सक्रीय दिखाई दे रहीं. आयोग के प्रयास सफल हुए तो SHG की महिलाओं और आजीविका मिशन से जुड़े अधिकारियों की भूमिका महत्वपूर्ण मानी जाएगी.

 सरकार बनाने के लिए जद्दोजद कर रहीं प्रमुख पार्टियों को भी समझा आ गया,यदि महिलाओं के वोट को फोकस न किया तो जीत-हार पर असर पड़ सकता है. पार्टियां भी महिलाओं के रोजगार और आत्मनिर्भर बनाए के लिए योजनाएं और आश्वासन देने में पीछे दिखाई नहीं दे रही.साफ है इस बार लोकसभा चुनाव में Female Voters सत्ता की master key साबित होगी.         

SHG NULM self help group SVEEP state election commission states voters State Rural Livelihood Mission Bihan Systematic Voter's Eduction and Eletoral Participation